JAP स्थापना दिवस एवं मेले का उद्घाटन

रांची: डीजीपी डीके पांडेय ने कहा है कि इस नए साल में राज्य से नक्सलियों को उखाड़ फेंकना है। झारखंड आर्म्ड पुलिस (जैप) के स्थापना दिवस पर गुरुवार को जैप ग्राउंड में आयोजित कार्यक्रम में डीजीपी ने जैप कर्मियों को बधाई भी थी।

डीजीपी डीके पांडेय ने जैप स्थापना दिवस पर जैप को हर संसाधनों से सुसज्जित करने का आश्वासन दिया। उन्होंने स्थापना दिवस के मौके पर लगे आनंद मेले का भी उद्घाटन किया।

इस दौरान उन्होंने विभिन्न स्टॉल्स का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने जैप कैंपस में पारंपरिक रूप से होने वाले रस्सी खींच इवेंट में भी हिस्सा लिया।

डीजीपी के साथ जैप के डीआईजी, कमांडेंट अमोल वी होमकर, रांची के एसएसपी कुलदीप द्विवेदी समेत बड़ी संख्या में पुलिस ऑफिसर्स मौजूद थे।

क्या है जैप ?

जैप की स्थापना जनवरी 1880 में ब्रिटिश हुकूमत के द्वारा की गई थी। न्यू इंडिया रिजर्व फोर्स के नाम से स्थापित जैप ने अपने स्थापना के 137 वर्षों में कई महत्वपूर्ण उपलब्धियां पाई हैं।

1971 में भारत-पाकिस्तान युद्ध में अदम्य शौर्य का परिचय देने के कारण इसे पूर्वी सितारा के खिताब से नवाजा गया था। आज जैप की 14 कंपनियां नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में तैनात हैं।

विभिन्न जगहों पर नक्सलियों के खिलाफ अभियान चला रही हैं। प्रसिद्ध जैन तीर्थ स्थल पारसनाथ पहाड़ी को और उग्रवादियों से मुक्त कराने की दिशा में जैप ने साहसिक काम किए हैं।

पारसनाथ पहाड़ी पर फिलहाल जैप के तीन कैंप हैं।

Courtesy: http://www.bhaskar.com/news/c-181-dgp-in-jap-establishment-day-in-ranchi-NOR.html


 Back to Top

Copyright © 2011 Jharkhand Police. All rights reserved.