रांची (15/12/2016): 91 लाख रुपए के ठगी के आरोपी पकड़ा गया

District: Ranchi Date: 15/12/2016 Nature of Work:Good Work

रांची: साइबर पुलिस 91 लाख रुपए के ठगी के आरोपी आशीष कुमार चौबे उर्फ शैलेंद्र को दिल्ली से गिरफ्तार कर रांची ले आई है। गुरुवार को प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए साइबर थाना की डीएसपी श्रद्धा केरकेट्टा ने बताया कि आशीष ने पूछताछ में कई अहम खुलासे किए हैं। उन्होंने बताया कि आशीष का मोबाइल सिम, नाम, एड्रेस सहित अन्य जानकारी फर्जी थे। लेकिन उसने फर्जी पैन कार्ड में अपनी असली तस्वीर लगा रखी थी, जिससे पहचान कर उसे पकड़ा जा सका।

रांची के कांके रोड निवासी सीसीएल से सेवानिवृत्त आनंद कुमार राय से 91 लाख रुपए ठगी की जांच के क्रम में आशीष कुमार चौबे उर्फ शैलेंद्र का मोबाइल नंबर, एकाउंट नंबर और पैन कार्ड हाथ लगे थे। उसने फर्जी नाम-पते पर सिम ले रखा था। उसने जितने भी एकाउंट से ट्रांजेक्शन किया था, सभी फर्जी नाम और पते पर ही खोले थे।

बार-बार ठिकाने बदल रहा था आरोपी

डीएसपी ने कहा, आशीष का मोबाइल ट्रेस कने पर हर बार लोकेशन अलग मिला। जब तकनीकी सहयोग से उसे दिल्ली स्थित न्यू अशोक नगर से 14 दिसंबर की शाम पकड़ा गया, तो घर में सोया था। पुलिस ने पैन कार्ड पर लगी हुई तस्वीर से पहचान की। इसके बाद उसे गिरफ्तार कर रांची लाया गया।

पॉलिसी की मैच्योरिटी में फायदे का लालच देकर झांसे में लेते थे

आशीष ने पुलिस को बताया कि वह 24 साल का है। दिल्ली के एक प्राइवेट इंस्टीच्यूट से 2013 में मास कॉम कर रहा था। इसी दौरान उसने पैसे कमाने के लिए कॉल सेंटर ज्वाइन किया। वहीं उसकी दोस्ती ऐसे लड़कों के साथ हुई, जो इस तरह के फ्रॉड करते थे।

कॉल सेंटर के जरिए वे लोगों के पैन कार्ड, डेट ऑफ बर्थ और अन्य जानकारी के माध्यम से उनके लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी की जानकारी लेते थे। फिर उन्हें उस प्लान की मैच्योरिटी राशि के झूठे फायदे बता अपने झांसे में ले लेते थे।

Courtesy: http://www.bhaskar.com/news/JHA-RAN-HMU-man-arrested-on-fake-pan-card-news-hindi-5482538-NOR.html

BACK

 Back to Top

Copyright © 2011 Jharkhand Police. All rights reserved.