बोकारो (04/01/2017): पिंक पेट्रोलिंग वाहन का उद्घाटन

District: Bokaro Date: 04/01/2017 Nature of Work:Good Work

बोकारो : रांची व जमशेदपुर के बाद अब बहुत जल्द बोकारो-धनबाद, देवघर व हजारीबाग जैसे जिलों में भी शक्ति एप की शुरुआत होगी। रांची व जमशेदपुर में जैसे ही इस एप के माध्यम से महिलाओं से छेड़खानी या फिर अन्य अपराध की जानकारी मिलती है तो तुरंत पुलिस यहां पहुंचकर पीड़ित पक्ष की मदद करती है। यह कहना अपराध अनुसंधान विभाग की आइजी संपत मीणा का। बोकारो पुलिस केंद्र में पिंक पेट्रोलिंग वाहन का उद्घाटन करने पहुंची सीआइडी आइजी ने बताया कि तीन वर्षो से राज्य पुलिस का यह प्रयास है कि वह अपने कर्मियों को बच्चों व महिलाओं के प्रति होनेवाले अपराध की रोकथाम के लिए संवेदनशील बनाएं। ऐसे अपराध के मामले में पुलिस के स्तर से ही पहले त्वरित राहत मिलती है। पुलिसकर्मियों को इसी वजह से इसका प्रशिक्षण दिया गया है कि वे महिला व बच्चों से कैसा व्यवहार करें।

पीड़ित पक्ष को किन कानूनी प्रावधान के तहत राहत पहुंचाने की कोशिश पुलिस करे और इसका अनुसंधान कैसे हो। राज्य पुलिस मुख्यालय अपने इस अभियान में सफल रहा है। बताया कि पुलिस की सभी व्यवस्थाएं तभी सफल होंगी जब लोग इसके प्रति जागरूक होंगे। बोकारो के शहरी इलाकों में महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करना पिंक पेट्रोलिंग का उद्देश्य है। शहरी इलाके में पुलिस का यह प्रयोग सफल रहा तो दूसरे चरण में इसे गोमिया व बेरमो में भी शुरू किया जाएगा।

इस वर्ष जागरूकता फैलाने का काम करेगी पुलिस : आइजी ने कहा कि पुलिसवालों का व्यवहार व कानूनी प्रावधानों के प्रति जागरूक करने के बाद अब इस वर्ष पुलिस स्कूल-कॉलेज में जाकर छात्रओं को सरकारी प्रावधानों की जानकारी दी जाएगी। इन्हें पुलिस अफसरों का नंबर देकर यह कहा जाएगा कि जरूरत पर तुरंत सूचना दें। पुलिस महानिरीक्षक ने कहा कि जब वह रांची डीआइजी थीं तो पीजी की छात्रओं के बीच जागरूकता की जानकारी लेने पहुंची। यहां किसी भी पुलिस अफसर का नंबर किसी छात्र के पास नहीं था। उन्होंने छात्रओं के कहा कि बिग बाजार में कौन सी नई स्टॉल लगी है इसकी जानकारी सब रखती हैं, लेकिन सुरक्षा के मामले में इतनी लापरवाही क्यों। हम अपने अधिकारियों को जानें। सुरक्षा के लिए पुलिस की ओर से किए गए उपायों की जानकारी भी सभी को रहे। समय रहते मदद पुलिस से तुरंत मांगी जाए।

कार्यशाला का आयोजन कर दी गई कानूनी जानकारी : पिंक पेट्रोलिंग उद्घाटन कार्यक्रम के बाद पुलिस ने कानूनी जानकारी के लिए कार्यशाला का भी आयोजन किया गया। कोयला क्षेत्र के डीआइजी साकेत कुमार सिंह, डीसी राय महिमापत रे, एसपी वाइएस रमेश, जैप चार के कमांडेंट नौशाद आलम, मुख्यालय डीएसपी अजय कुमार, सिटी डीएसपी अजय कुमार, सीसीआर डीएसपी रजत माणिक बाखला, बेरमो एसडीपीओ राज कुमार मेहता, चास डीएसपी महेश कुमार सिंह उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन चास इंस्पेक्टर कमल किशोर ने किया। सीडब्ल्यूसी के अध्यक्ष डॉक्टर प्रभाकर, चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के संरक्षक संजय वैद्य, समाजसेवी आरती राणा, अधिवक्ता प्रीती समेत कई अन्य लोग थे।

एसपी ने कहा 100 नंबर डॉयल करते ही पहुंचेगी पिंक पेट्रोलिंग : एसपी वाईएस रमेश ने कहा पिंक पेट्रोलिंग को महिला प्रताड़ना, छेड़खानी रोकने के लिए इस वाहन को लगाया गया है। 100 नंबर डॉयल करते ही पिंक पेट्रोलिंग वाहन घटनास्थल पर होगी। 24 घंटे सातों दिन स्कूल कॉलेज, मॉल, सिनेमा हॉल, सिटी सेंटर समेत अन्य वैसी जगहों पर पेट्रोलिंग वाहन को गश्ती करने का आदेश दिया गया है जहां छेड़खानी की संभावना बनी रहती है। छोटे हथियार, वायरलेस सेट से पुलिस कर्मियों को लैस किया गया है तो वाहन में जीपीएस सिस्टम के अलावा सायरन, माइक सिस्टम से लैस किया गया है।

Courtesy: http://epaper.jagran.com/ePaperArticle/05-jan-2017-edition-Bokaro-page_5-9874-1759-181.html

BACK

 Back to Top

Copyright © 2011 Jharkhand Police. All rights reserved.