और आठ हजार कांस्टेबलों की होगी बहाली : डीजीपी

Recent Photograph of Police Events

धनबाद : पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) गौरीशंकर रथ ने कहा है कि झारखंड में इस साल और आठ हजार कांस्टेबलों की बहाली होगी। एक और इंडिया रिजर्व बटालियन का गठन होगा। पांच ऐसे बटालियन राज्य में पहले से कार्यरत हैं। अभी हाल में छह हजार कांस्टेबलों की नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी की गयी है। एसआइएसएफ़ (स्टेट इंडस्ट्रीयल सिक्यूरिटी फ़ोर्स) का मुख्यालय बोकारो में होगा। एसआइएसएफ़ में बहाली की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। राज्य के बैंक, उद्योगों को केंद्र सरकार की सीआइएसएफ़ की तरह एसआइएसएफ़ उपलब्ध कराया जायेगा। डीजीपी यहां पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। मौके पर बोकारो के आइजी मुरारीलाल मीणा, डीआइजी लक्षमण प्रसाद सिंह, एसपी रविकांत धान भी उपस्थित थे। डीजीपी ने कहा कि राज्य गठन के बाद 11 वर्ष में पहली बार दारोगा की बहाली हुई है। सीधी नियुक्ति के डीएसपी व दारोगा की कमी से अनुसंधान प्रभावित हो रहा था। नये बहाल 35 डीएसपी ट्रेनिंग पूरी कर फ़ील्ड में आ जायेंगे। नये दारोगा की ट्रेनिंग पूरी कर थानों में पोस्टिंग के बाद एसआइ व डीएसपी की कमी काफ़ी हद तक दूर हो जायेगी। पुलिस की कैपिसिटी बिल्डिंग डीजीपी ने कहा कि मॉडर्नाइजेशन से पुलिस की क्षमता का विकास हो रहा है। कैपिसिटी बिल्डिंग व ट्रेनिंग उनकी प्राथमिकता में है। ट्रेनिंग को लगातार सुदृढ़ किया जा रहा है। हजारीबाग में नयी पुलिस एकेडमी बनकर तैयार है। नये बहाल एसआइ की ट्रेनिंग एकेडमी में होगी। पदमा ट्रेनिंग सेंटर की क्षमता भी बढ़ायी जा रही है। मुसाबनी में सीआइटी स्कूल बन रहा है। सुकरहुट्ट में जगुआर का आधुनिक ट्रेनिंग सेंटर बनाया जा रहा है। नेतरहाट स्कूल को भी और क्षमता बढ़ा कर सुदृढ़ किया जा रहा है। राज्य पुलिस का आधुनिकीकरण संतोषप्रद है। उन्होंने कहा कि राज्य में नक्सल ऑपरेशन चल रहा है। परिणाम भी सकारात्मक आते रहते हैं। अपराधियों के खिलाफ़ सभी स्तर पर अभियान चल रहा है। अपराध बढ़ता-घटता है। आतंकवाद देश की समस्या डीजीपी ने कहा कि आतंकवाद देश की समस्या है। हजारीबाग में आतंकी का पकड़ा जाना राज्य पुलिस व केंद्रीय एजेंसी के तालमेल से संभव हुआ है। झारखंड से आतंकियों के तार नहीं जोड़ा जा सकता है। पकड़े गये युवक दूसरे राज्य के थे और हजारीबाग में रहकर पढ़ाई कर रहे थे। जानकारी मिली तो कार्रवाई हुई। इसका मतलब यह नहीं है कि राज्य में आतंकी सक्रिय हैं और इस निष्कर्ष पर भी नहीं पहुंचा जा सकता है कि यहां कोई गतिविधियां नहीं है।

Courtesy: prabhatkhabar.com 05.03.2012


 Back to Top

Office Address: Jharkhand Police Headquarters, Dhurwa, Ranchi - 834004

Copyright © 2019 Jharkhand Police. All rights reserved.