चोरों का कोड वर्ड- बीट देखो, घंटी मिली

Recent Photograph of Police Events

रांची: घंटी मिली है। ठीक है, इधर प्लेयर ने किताब ले ली है। बीट देखो, वहां बढि़या काम हो सकता है। यह फिल्मी संवाद नहीं, रीयल लाइफ में चोरों का संवाद है। ऐसे ही कोड वर्ड में वे बातें करते हैं। ये बातें पुलिस को चोरों ने ही बताई। मोतिहारी में गिरफ्तार गिरोह के नगेंद्र चौधरी (घोड़ासाहन, मोतिहारी) व अंगेश कुमार (अठमुहान, घोड़ासाहन) को बुधवार को सिटी एसपी रंजीत कुमार प्रसाद ने मीडिया के सामने प्रस्तुत किया। इनके पास से 51 घडि़यां, 17 लैपटॉप व 1,15000 नेपाली मुद्रा बरामद की गई है। इसी गिरोह ने रांची के सर्कुलर रोड स्थित टाइटन शोरूम में 02 फरवरी की रात चोरी की थी। इनलोगों ने कोड वर्ड बना रखा है। मोबाइल को घंटी, लैपटाप को किताब, घड़ी को बीट, तेज-तर्रार साथी को प्लेयर कहते हैं। 13 सदस्यीय यह गिरोह बिहार के मोतिहारी जिले के घोड़ासाहन का है। सिटी एसपी ने बताया कि कांड के खुलासे में लालपुर थाना प्रभारी वेंकटेश कुमार, दारोगा प्रमोद कुमार सिंह के अलावा मोतिहारी मुफ्फसिल के थाना प्रभारी रवि कुमार, मोतिहारी के चकिया थाना प्रभारी राजेश कुमार शर्मा व मदन भगत का विशेष योगदान रहा। इस कांड में शामिल पुलिसकर्मियों/पदाधिकारियों के पुरस्कार की अनुशंसा की जाएगी।

Courtesy : Dainik Jagran 01.03.2012


 Back to Top

Office Address: Jharkhand Police Headquarters, Dhurwa, Ranchi - 834004

Copyright © 2019 Jharkhand Police. All rights reserved.