बंद के दौरान उपद्रव पर सख्ती बरतेगा प्रशासन

रांची : भूमि अधिग्रहण संशोधन विधेयक के विरोध में पांच जुलाई को प्रस्तावित संपूर्ण विपक्ष के झारखंड बंद को लेकर पुलिस-प्रशासन ने भी विशेष तैयारियां कर ली है। एडीजी ऑपरेशन आरके मल्लिक ने सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में पुलिस-प्रशासन की तैयारियों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि किसी भी पार्टी, संस्था, व्यक्ति को विरोध करने का संवैधानिक अधिकार प्राप्त है, लेकिन विरोध की आड़ में उपद्रव या हिंसा का अधिकार किसी को नहीं है। अगर उपद्रव या हिंसा करते बंद समर्थक मिलेंगे तो पुलिस-प्रशासन उनपर सख्ती बरतेगी और कानून सम्मत कार्रवाई करेगी।

सोमवार को पुलिस मुख्यालय से सभी जिलों के एसपी, रेंज डीआइजी के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग में आवश्यक दिशा-निर्देश दिया गया है। बताया गया है कि जो शांतिपूर्ण विरोध-प्रदर्शन करेंगे, उन्हें करने देना है। लेकिन, बंद का समर्थन नहीं करने वालों को परेशान करने वालों पर सख्त कार्रवाई करना है। यातायात व्यवस्था को सुचारू किया जाएगा। सभी जिलों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं ताकि विधि-व्यवस्था का संकट उत्पन्न न हो।

एडीजी ने कहा कि सभी जिलों के एसपी-डीसी को अपने-अपने जिलों के संवेदनशील क्षेत्रों को चिह्न्ति करने का आदेश दिया गया है, जहां वे अपने अनुसार सुरक्षा बलों को तैनात कर सकेंगे। जिलों को समय से बल उपलब्ध करवाया जा रहा है।

एडीजी ऑपरेशन ने बताया कि जिलों में बंद के पूर्व संभावित उपद्रवी तत्वों के विरुद्ध दंड प्रक्रिया संहिता 107 के तहत नोटिस की कार्रवाई की जा रही है, ताकि ऐसे तत्वों पर कड़ी कार्रवाई की जा सके।

Courtesy: https://epaper.jagran.com/ePaperArticle/03-jul-2018-edition-Ranchi-page_2-5256-7201-212.html


 Back to Top

Copyright © 2011 Jharkhand Police. All rights reserved.