लातेहार में डीजीपी ने की बैठक, नक्सलियों की संपत्ति होगी जब्त

Recent Photograph of Police Events

लातेहार: डीजीपी डीके पांडेय ने मंगलवार को जिला मुख्यालय स्थित सीआरपीएफ 11वीं बटालियन के मुख्यालय में पलामू प्रमंडल के डीआईजी विपुल शुक्ला, लातेहार एसपी प्रशांत आनंद, पलामू एसपी इंद्रजीत महथा, गढ़वा एसपी शिवानी तिवारी, सीआरपीएफ कमांडेंट व अधिकारियों के साथ नक्सल उन्मूलन को लेकर मैराथन बैठक की। बैठक में पलामू प्रमंडल से नक्सलियों को उखाड़ फेंकने की रणनीति बनाई गयी है। लातेहार व गढ़वा जिला तथा छत्तीसगढ़ की सीमा पर स्थित बूढ़ा पहाड़ को खाली कराने के लिए बरसात में भी लगातार अभियान चलाए जाने को लेकर रणनीति बनाई गयी है।

चार घंटे तक चली बैठक के बाद डीजीपी ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान बताया कि झारखंड सरकार का पूरा प्रयास है कि झारखंड को उग्रवाद और नक्सलवाद से मुक्त कराया जाय। उन्होंने कहा कि बाहर से आये नक्सली झारखंड को लूटने का काम कर रहे हैं। ये विकास में बाधक बने हुए हैं। झारखंड पुलिस ऐसे नक्सलियों को चिह्नित कर उनके घर से लेकर ससुराल तक की सारी संपत्ति जब्त करेगी। झारखंड पुलिस इसे यहां से उखाड़ फेंकेगी। उन्होंने कहा कि विकास में जो बाधक बनेगा उसे मार गिराया जाएगा।

डीजीपी ने माओवादी नक्सलियों पर निशाना साधते हुए पलामू प्रमंडल की जनता से अपील करते हुए कहा कि झारखंड के बाहर से आये नक्सली तेलंगाना निवासी पोलित ब्यूरो सदस्य सुधाकरण रेड्डी एवं उसकी पत्नी नीलिमा, छोटू खरवार, नवीन एवं बिहार से आये संदीप यादव को भगाने का काम करें। जो भी इस कार्य में सहयोग करेगा, उसे घोषित राशि दी जायेगी। डीजीपी डीके पांडेय ने बताया कि तेलंगाना का सुधाकर रेड्डी व उनकी पत्नी नीलिमा के पास करोड़ों की संपत्ति झारखंड के जनता से लूटी हुई है। उनकी सभी संपत्ति को पुलिस जब्त करेगी। मौके पर एडीआई अनुराग गुप्ता, सीआरपीएफ आईजी संजय लाटकर, डीआईजी विपुल शुक्ला, सीआरपीएफ के 214वीं बटालियन के अजय कुमार सिंह, 218 बटालियन के सी शामर, 112 बटालियन के कमांडेंट, 11वीं बटालियन के पी खरमुहरी, 172 बटालियन के एसएन मिश्रा, लातेहार एसपी प्रशांत आनंद, पलामू एसपी इंद्रजीत महथा, गढ़वा एसपी अंजनी झा समेत पुलिस प्रशासन के वरीय अधिकारी मौजूद थे।

नक्सली सरेंडर करें, वरना मारे जाने के लिए तैयार रहें : आशीष बात्रा

आईजी आशीष बात्रा ने बताया कि बैठक में अभियान में तेजी लाने, नक्सलग्रस्त इलाकों में विकास योजना खड़ा करने, सरेंडर किये नक्सलियों को अन्य लाभ देने और फंसे मामलों का निपटारा करने आदि पर चर्चा हुई है। यह पूछे जाने पर कि क्या कारगिल से ज्यादा टफ बूढ़ा पहाड़ है। आईजी ने कहा कि नक्सली छिपकर वार करते हैं। उनकी कार्रवाई कायरतापूर्ण है। उन्होंने कहा कि अभियान में कभी नक्सलियों का तो कभी हमारा भी नुकसान हुआ है। मगर नुकसान से हौसला टूटा नहीं है। बहुत जल्द बूढ़ा पहाड़ नक्सल मुक्त होगा। आईजी ने मीडिया के माध्यम से नक्सलियों को सचेत किया कि नक्सली सरेंडर करें, वरना मारे जाने के लिए तैयार रहें।

Courtesy: https://www.bhaskar.com/jharkhand/ranchi/news/dgp-dk-pandey-in-latehar-5913754.html?ref=per-hp


 Back to Top

Copyright © 2011 Jharkhand Police. All rights reserved.