खूंटी (29/01/2019): सुरक्षाबलों और उग्रवादियों के बीच मुठभेड़, दो लाख का इनामी समेत पांच ढेर

District: 
Date of Achievement: 
29/01/2019
Nature of Work: 
Achievement Against Naxals

Recent Photograph of Police Events

खूंटी: मंगलवार सुबह खूंटी के अड़की प्रखंड में घोर नक्सल प्रभावित लोंगकाटा जंगल में पुलिस ने मुठभेड़ में उग्रवादी संगठन पीएलएफआई के पांच उग्रवादियों को मार गिराया। दो घायल उग्रवादी सोमा पूर्ति और प्रवीण मुंडा गिरफ्तार किए गए हैं। पुलिस के मुताबिक सोमा की उम्र 25 साल और प्रवीण की 20 साल है। मुठभेड़ में मारे गए उग्रवादियों में एरिया कमांडर प्रभु सहाय बोदरा उर्फ सोमा बोदरा, पलटन और बच्चा शामिल हैं। दो की शिनाख्त अभी नहीं हो पाई है। प्रभु बोदरा पर दो लाख का इनाम घोषित है। घायल नक्सली सोमा पूर्ति (25 साल) के गाल में गोली लगी है। गोली उसके चेहरे को चीरती हुई पार कर गई है। वहीं एक अन्य नक्सली प्रवीण मुंडा (20 साल) के पैर में गोली लगी है। दोपहर 2.30 बजे इन दोनों को रिम्स लाया गया। इमरजेंसी के माइनर ओटी में इनका ऑपरेशन किया गया। फिर हेल्थ मैप में एक्सरे और सिटी स्कैन कराया गया। घायल सोमा पूर्ति की स्थिति गंभीर है।

मुठभेड़ के संबंध में डीआईजी एबी होमकर ने बताया कि अड़की, मुरहू एवं बंदगांव थाना क्षेत्र के सीमांत जंगल में प्रभु सहाय बोदरा एवं दीत नाग के दस्ते की होने की सूचना मिली थी। इस सूचना के सत्यापन एवं उक्त पीएलएफआई के सदस्यों के विरुद्ध कार्रवाई करने के लिए एसपी आलोक ने अपर पुलिस अधीक्षक अनुराग राज के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया। जिसमें एसडीपीओ खूंटी कुलदीप कुमार, कोबरा 209 के डिप्टी कमांडेंट विक्की कुमार पांडे, असिस्टेंट कमांडेंट जितेंद्र सिंह तथा कोबरा 209 एवं जिला बल के जवान शामिल थे। उन्होंने बताया कि पुलिस की टीम सूचना के सत्यापन में जाने के क्रम में ग्राम लोंगकाटा की पहाड़ी के पास से गुजर रही थी और सूचना के सत्यापन के लिए पहाड़ी के ऊपर चढ़े थे कि पहाड़ी के ऊपर से पूर्व से तैनात पीएलएफआई के संतरी के द्वारा पुलिस बल पर फायरिंग प्रारंभ कर दी गई।

आईजी एसटीएफ व ऑपरेशन आशीष बत्रा ने कहा कि राज्य में 550 माओवादी बचे हैं। 250 पर इनाम घोषित हो चुका है। 30 पर इनाम घोषित करने की प्रक्रिया चल रही है। 2019 में अब तक सात मुठभेड़ हुए हैं, जिनमें पुलिस को सफलता मिली है। हालांकि नक्सलियों के खिलाफ बड़ी सफलता राज्य पुलिस को चार अप्रैल, 2018 में मिली थी जब लातेहार के हेरहंज थाना क्षेत्र के सेरेनदाग व केड़ू गांव के निकट 5-5 लाख के इनामी सब जोनल कमांडर शिवलाल यादव और श्रवण यादव सहित कुल 5 नक्सली मारे गए थे।

मारे गए उग्रवादी दो लाख रुपए के इनामी प्रभु सहाय बोदरा पर कई हत्याओं समेत 31 मामले दर्ज हैं। घटनास्थल से पुलिस को दो एके-47 राइफल, दो .315 राइफल, चार पिस्टल और 264 गोलियां मिलीं हैं। इससे पहले खूंटी पुलिस ने 2017 में कर्रा में पीएलएफआई के चार उग्रवादियों को मार गिराया था। अब मंगलवार को फिर बड़ी सफलता मिली।

एडीजी ऑपरेशन एमएल मीना ने कहा कि राज्य में नक्सलियों का प्रभाव अब नहीं के बराबर रह गया है। नक्सलियों की कमर तोड़ने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में बीएसएनएल 1054 मोबाइल टावर लगाएगा। उन्होंने कहा कि झारखंड पुलिस और केंद्रीय अर्धसैनिक बल संयुक्त प्रयास से नक्सलियों के खात्मे के लिए दृढ़ सकंल्प है। वहीं आईजी एसटीएफ व ऑपरेशन आशीष बत्रा ने कहा कि राज्य में 550 माओवादी बचे हैं। 250 पर इनाम घोषित हो चुका है। 30 पर इनाम घोषित करने की प्रक्रिया चल रही है। 2019 में अब तक सात मुठभेड़ हुए हैं, जिनमें पुलिस को सफलता मिली है।

Courtesy: https://www.bhaskar.com/national/news/ranchi-security-forces-naxal-encounter-in-khunti-01482681.html

BACK

 Back to Top

Copyright © 2011 Jharkhand Police. All rights reserved.